Page 1 of 5 123 ... LastLast
Results 1 to 15 of 62

Thread: Funny Hindi Poems (by 'Majaal')

  1. #1
    New Born
    Join Date
    Nov 2010
    Posts
    84
    Rep Power
    53

    Wink Funny Hindi Poems (by 'Majaal')

    Hi all. This is my first post. Hope you like it. Cheers !

    तुझे पाने की हसरत लिए,
    हमें एक जमाना हो गया !
    नयी नयी शायरी,
    करते तेरे पीछे,
    देख मैं शायर कितना,
    पुराना हो गया !


    मुए इस दिल को,
    संभालना पड़ता है,
    हर वक़्त !
    दिल न हुआ गोया,
    बिन पजामे का,
    नाड़ा हो गया !


    मरज में न फरक,
    तोहफों में खरच अलग !
    इलाज में खाली सारा,
    अपना खज़ाना हो गया !


    दिल दर्द से भरा,
    और जेबें खाली !
    ग़म ही इन दिनों,
    अपना खाना हो गया !


    मुद्दतें हो गयी ,
    रोग जाता नहीं दिखता,
    अस्पताल ही अब अपना,
    ठिकाना हो गया !


    तू भी तो बाज़ आ कभी ,
    इश्कियापन्ती से 'मजाल'
    पागल भी देख तुझे,
    कब का सयाना हो गया !


    A very Happy Deepawali to all of you !


    PS : 'Majaal' is my pen name.

  2. #2
    New Born
    Join Date
    Nov 2010
    Posts
    84
    Rep Power
    53

    Default

    Here is one more :

    जो हो गया, सो हो गया,
    शोक न कर, खेद न कर,
    क्या ?क्यों ? कैसे ? सोच कर,
    दिमाग की संधि विच्छेद न कर !


    टीना नहीं, मीना सहीं,
    मीना नहीं, लीना सही,
    जो मिल गया, वो मिल गया,
    जो ना मिला, वो ना सहीं !
    सम्मान कर तू रूप का,
    यौवन में कोई भेद न कर !
    शोक न कर, खेद न कर ...


    जिंदगी में वैसे ही बहुत,
    ग़मों का लगा अंबार है,
    दुखों से पहले ही बहुत,
    भरा हुआ संसार है,
    पहले से फटी जिंदगी,
    फटें में तू और छेद न कर !
    शोक न कर, खेद न कर ...


    ग़म को न दे तवज्जो तू ,
    ख़ुशी से न तू फूल जा,
    बस ले मज़ा हर पल का एक,
    जीवन है झूला, झूल जा !
    यादों को याद कर कर के,
    क्या भला तू पाएगा ?
    बढेगा बस दुख ही तेरा,
    बस सोच कर थक जाएगा.
    इसलिए मियां 'मजाल',
    विचारों की परेड न कर !
    शोक न कर खेद न कर ...


    माना की हर कदम इसके,
    मुसीबतें और आफत है,
    मगर प्यारे, जहाँ जिन्दा,
    अपनी जाँ जब तक सलामत है !
    अभी सजी हुई बाज़ी,
    अभी तो तू न हारा है,
    बीच में यूँ छोड़ना,
    'मजाल' न गवाँरा है,
    बाकी अभी फिल्म बहुत,
    'interval ' में ही 'the end ' न कर !
    शोक न कर, खेद न कर ....

  3. #3
    New Born
    Join Date
    Nov 2010
    Posts
    84
    Rep Power
    53

    Talking

    A parody on song 'all izz well'. Hope u like it

    Exam के दिन बचे चार , तैयारी zero है यार !
    तैयारी zero है यार , और दिन भी बस बचे चार !

    साल भर तूने लड़कियों पे crush मारी ,
    Lectures किये bunk, canteenon में गश मारी !
    Teacher बोले , 'बेटा , अब मेरी बारी !"
    तो notes हटा , 'Guess-Paper' बना , guess paper बना के सोच ,

    की " तुक्का लग जाएगा !!!"
    " तुक्का लग जाएगा !!!"
    (सब ) Guess paper से ही आएगा !!!
    " ओ तुक्का लग जाएगा SSS !!!"

    अपने को तो total number subjects भी है पता नहीं !
    'Compartment' से वाकिफ है , 'Distinction' क्या है पता नहीं !
    God ही अपनी boat को rescue करवाए !
    तो हम देसी घी के लड्डू चदवाएं !
    Treat दे देंगे , 'grace' भी अगर मिल जाए !
    तो notes हटा , 'Guess-Paper' बना , guess paper बना के सोच ,

    की " तुक्का लग जाएगा !!!"
    " तुक्का लग जाएगा !!!"
    (सब ) Guess paper से ही आएगा !!!
    " ओ तुक्का लग जाएगा SSS !!!"

    हमने तो सोचा था , की ये मसले छोटे छोटे है ,
    शास्त्री सर के notes तो बाबा , किताबो से भी मोटे है !
    सवाल ये सारे , तेरा भेजा fry करे !
    "मजाल' है कहता " फिर भी आप न cry करे !"
    "जब कुछ न हो , तो भी किस्मत तो try करे !"
    तो notes हटा , 'Guess-Paper' बना , guess paper बना के सोच ,

    की " तुक्का लग जाएगा !!!"
    " तुक्का लग जाएगा !!!"
    (सब ) Guess paper से ही आएगा !!!
    " ओ तुक्का लग जाएगा SSS !!!"


  4. #4
    Machinehead Lieutenant General ignoramusenator's Avatar
    Join Date
    Jan 2007
    Location
    Neverland
    Posts
    53,702
    Rep Power
    100

    Default

    waaah kyaa baath hein


    Make My Day

  5. #5
    New Born
    Join Date
    Nov 2010
    Posts
    84
    Rep Power
    53

    Talking

    thanks for responding

    here is another one - mijaaz rangeen, mamla sangeen

    एक थी परवीन,
    बला सी हसीन,
    कुदरत-ए-हूर,
    बेहतर-ए-बेहतरीन !



    एक थे मियाँ 'मजाल',
    उमर नब्बे के पार,
    थी जवानी ख़याल,
    पर तबीयत शौक़ीन !


    एक दिन मियाँ 'मजाल'
    को दिख गयी परवीन,
    मिज़ाज रंगीन,
    तो मामला संगीन !


    ' सुन ए नाज़नीन,
    तू हमें लगे नमकीन,
    जो मुस्कुरादे तू,
    तो क्या तेरी तौहीन ?
    न कर हमसे नज़रे चार,
    पर कम से कम दो-तीन !'


    'कर लेती नज़रे चार,
    ज़रा होते जो नवीन !
    करें उमर का लिहाज़,
    बस शतक से कम दो तीन !
    जो चाहें मेरा प्यार,
    तो हम अब भी है तैयार,
    बन जाइए अब्बाजान,
    की हम है यतींम !'


    तब से मियाँ मजाल का,
    रूमानी ग़ायब ख़याल,
    अब बस गीता कुरान,
    में करतें हैं यकीन !


    दिल में ज़खम अब भी,
    पर है ताज़े और तरीन,
    जो पूछ ले कोई,
    'क्या लेंगें कुछ नमकीन ?'
    घबरा के कह देतें,
    ' ना जी नाज़नीन,
    की आज कल तबीयत,
    डाइबीटीस के अधीन !!! '

  6. #6
    New Born
    Join Date
    Nov 2010
    Posts
    84
    Rep Power
    53

    Talking

    Parody on songs 'Emotional Atyachar' Hope u like it

    देखे है दिन जो, हमने ये difficulto,
    न खुदा किसी को दिखाए 'मजाल'!
    Yahoo की chatting , या orkut की networking ,
    अपनी setting कहीं हुई न यार sss!


    आधी को तो 'Hi' कहो तो आता 'No Reply !'
    और बाकी बस naughty links दे कर गायब हो जाये! <---- २
    हमने तो सोचा था, मिलेगा 'सच्चा प्यारsss!'


    काहे की 'princess jenny ', काहे की 'darling kate ' ,
    फर्जी निकली सारी 'online dates ' ! <---- २


    मुश्किल से बड़ी, एक पटी, एक पटी!
    उसके खर्चे पर ऐसे , की हम झेल झेल मर जाएं! <----- २


    पहले तो खूब 'online gifts' मंगवाए,
    फिर एक दिन, अचानक ही हाए,
    कर दिया हमें 'permanent ignore ssssss' ! <------ २


    काहे की 'princess jenny ', काहे की 'darling kate ',
    फर्जी निकली सारी 'online dates ' !
    काहे की 'princess jenny ', काहे की 'darling kate ',
    धोखा दे गयी so called 'kate winslet !'

  7. #7
    ___ Sa'aB™ ___ Field Marshal DesiCasanova's Avatar
    Join Date
    Aug 2009
    Posts
    350,259
    Rep Power
    100

    Default

    wah wah wah janab!
    look forward to more....
    ╰დ╮LovEPower ╭დ╯

  8. #8
    SB Spearhead Field Marshal Rocky-10's Avatar
    Join Date
    Oct 2006
    Location
    ¤(¯`·._.» In Your Heart
    Posts
    77,018
    Rep Power
    100

    Default

    good ones... thanx for sharing



    Lucky is the man who is the first love of a woman,
    but luckier is the woman who is the last love of a man.

  9. #9
    New Born
    Join Date
    Nov 2010
    Posts
    84
    Rep Power
    53

    Talking

    thanks for responding, ye ek aur .... its called 'kuch tobi'

    बचपन में खेलते थे, हम एक खेल,
    खेल था मजेदार, पर था बेमेल,
    मजेदार क्यों था, ये तो न पता,
    पता जाए भाड़ में, मज़ा तो उसमें था !
    मज़ा यूँ बनता था, की लो एक वाक्य,
    वाक्य से एक छांट शब्द, खीचो उसे आप,
    खीचो उसे आप, मतलब निकले या नहीं,
    मतलब जब हवा , आखिर तभी निकले हसीं!
    हवा के कारण जीवन, नहीं तो हम मरते,
    'मरते क्या न करते', हिंदी मुहावरे अच्छे !
    अच्छे तो वो है, पर है वो बच्चे,
    बच्चे, कच्छे जैसे शब्द तुकबंदी जचतें !
    तुकबंदी का मतलब, एक जैसे स्वर,
    स्वर कोकिला होती है, लता मंगेशकर !
    कोकिला है गर वो, तो क्यों न रहती जंगल ?
    'जंगल में मंगल' थी पिक्चर भयंकर !
    मंगल ग्रह में सुना है, बस्ता है जीवन,
    बस्ता भारी है, ये कहता है मोहन !
    मोहन प्यारे जागो, की सुबह हो गयी नंदलाला,
    सुबह का भूला लौटे शाम, भूला नहीं कहलाता !
    भूला मैं ख़ुशी, अब बस याद ग़म,
    ग़म से चिपकता नहीं , टूटा ह्रदय सनम !
    हृदय की बीमारी, का आज कल प्रकोप,
    कल कल करती है नदी, देती मुझको होप !
    होप अंग्रेजी शब्द, मतलब जिसका आशा,
    आशा मेरे कॉलेज में, थी वो आइटम खासा !
    खासा क्यों तू , कहीं तू ग्रसित तो न टीबी ?
    टीबी तो नहीं, पर भाई, मैं पीड़ित बीवी !
    भाई की मेरन गयी सटक, कहत वह गाजर को गोभी,
    कहत 'मजाल' - 'ससुरा ई जिंदगी ही चीज़ कुछ तोबी !'

  10. #10
    New Born
    Join Date
    Nov 2010
    Posts
    84
    Rep Power
    53

    Wink

    one more - maal-e-muft, dil-e-bereham

    वाह साहिब !
    क्या मुश्किल आपकी !
    क्या विकट स्तिथि, क्या भरम ?!
    शुरू करें मीठे से,
    या चखे पहले खमण !


    रसगुल्ला न गटका,
    तो क्या दावत उड़ाई ?!
    डाईबटीस जाए भाड़ में,
    थोड़ी सी रसमलाई !


    मियां 'मजाल' रह रह कर,
    दिमागी अटकलों में उलझ जाएँ ,
    शाही पनीर आजमाए,
    या कोरमे पर शौक फरमाए !


    न छोड़ी नान,
    और तंदूरी रोटी भी खाई,
    पेट ने डकार मार दिया संदेसा,
    पर थे अपनी धुन में भाई !


    इमरती नरम,
    गुलाब जामुन,
    गरमा गरम !
    माल-ए-मुफ्त,
    दिल-ए-बेरहम !
    सूते जाईये 'मजाल',
    समझ के, खुदा का करम !


    कॉफ़ी की भी मारी चुस्कियाँ,
    कोका कोला भी पेट में उड़ोला !
    ठंडे , गरम का न किया लिहाज़,
    भाई ने किसो को नहीं छोड़ा !


    समापन समारोह में भी,
    तबीयत कब शरमाई ?!
    पान भी चबा गए कई,
    शिकंगी भी खूब भराई !


    सोचा था हजूर ने,
    मौका है न गवाओं,
    एक सौ एक का,
    लिफ़ाफ़ा थमाया है,
    कम से कम दौ सौ का तो,
    माल उड़ाओ!


    पर किस्मत ने करी चोट,
    तबीवत ने दिखाई चतुराई !
    अगले दिन सुबह सुबह ,
    पेट ने दी दुहाई !


    पार्टी में वसूली का,
    नुस्खा न काम आया,
    डाक्टर ने अलग से,
    घुसेड़ा इंजेक्शन,
    दवा ने अलग,
    अपने वास्ते ,
    पाँच सौ एक का,
    शगुन लगवाया !

  11. #11
    ♡♥£☋¢Ǩ¥ ★☆★ ☾ћi¢Ҝ¥♥♡ Field Marshal sens's Avatar
    Join Date
    Jul 2009
    Location
    ★♥»★«♥★
    Posts
    103,297
    Rep Power
    100

    Default

    congo on ur first post!!

    hillarious poems--...keep postin
    Live amongst people in such a manner that if you die they weep over you and if you are alive they crave for your company.

  12. #12
    New Born
    Join Date
    Nov 2010
    Posts
    84
    Rep Power
    53

    Default

    thanks, here's another one


    maska maar ke ...


    आप सिकंदर, हम पोरस,
    आप Solo, हम Chorus !
    आप संगीत मधुर, हम Music Loud,
    आप Pressure में Century, हम No Ball में Run Out !

    आप जुबान पक्की, हम टूटा वादा,
    आप Iodine युक्त, हम नमक सादा !
    आप Confirm Ticket, हम in Waiting List,
    आप payment एकमुश्त, हम परेशान किश्त !

    आप मकसद, हम बेवजह,
    आप कहीं-कहीं, हम जगह-जगह!
    आप राजा भोज, हम गंगू तेली,
    आप अलबर्ट आइन्स्टाइन, हम गैलिलियो गैलिली !

    आप नसीब-ए-कुदरत, हम बुरा वक्त,
    आप स्पष्ट बहुमत, हम जमानत जब्त !
    आप गलत भी सही, हम सही भी तुक्का,
    आप Imported Cigar, हम देसी हुक्का !

    आप हस्ती मुक्कमल , हम महज ख़याल ,
    आप नपी-तुली कूटनीति , हम ऐरे-गैरे 'मजाल' !

  13. #13
    New Born
    Join Date
    Nov 2010
    Posts
    84
    Rep Power
    53

    Default

    another one, 'ghalib darasal hindu the'

    न देखे माहौल,
    रमज़ान है या ईद,
    भाई तो था बस,
    तुकबंदी का मुरीद !
    अटका हुआ था बहुत देर से,
    'वहाँ पर्वत सिन्धु थे'
    कुछ न सूझा तो जोड़ दिया,
    'ग़ालिब दरअसल हिन्दू थे !'

    बिना ये सोचे समझे,
    क्या हो सकते इसके माने,
    भेज दी भाई ने अपनी रचना,
    संपादक को छपवाने !

    संपादक भी अपने किस्म के,
    अनूठे उदाहरण थे,
    चिंतन शैली ही अलग थी उनकी,
    न जाने किस कारण से !
    'कवि रहस्यवादी लगता है,
    जरूर कहा कुछ गूढ़ है! '
    भिड़ा दी पूरी अक्ल उन्होंने,
    समझाने में उद्देश्य कि,
    इस कथन के पीछे,
    कवि का क्या मूल है !

    चढ़ा खुराफात को फितूर,
    फिर क्या धरती, क्या गगन !
    अब जब लगी ऐसी लगन,
    तो फिर क्या कर लेंगे छगन!

    सनकियों को क्या फिकर,
    कि मोच है की लोच,
    बस नोच खाने की आदत,
    है बाल की भी खाल रे!
    बेलगाम सोच,
    करके खरोंच पे खरोंच,
    खोद खोद सीधी बात के भी,
    सौ मतलब निकाल लें !

    अब थी खुदा की मर्जी,
    की दुनिया ही फर्जी,
    या लोगों की पसंद ही,
    कुछ हो गयी है चरखी,
    जो भी हो,
    भाई का तो काम हो गया,
    कहते हैं की लोग फँसते,
    जब मुसीबत आती,
    अपना तो पर उल्टे,
    नाम हो गया !
    छपी जो रचना अखबार में,
    तो भूचाल आ गया,
    उधर छाया बवाल,
    इधर 'मजाल' छा गया !

    'वाह वाह क्या बात है !
    आपकी लेखनी कमाल है,
    पहली ही रचना में,
    आपने कर दिया धमाल है !'

    चर्चा हुई मंच पर,
    प्रपंच हिल गया !
    संसद में पहुंची बात,
    और युद्ध छिढ़ गया,
    फुर्सतियों ने पढ़ा तो,
    उनका चेहरा खिल गया,
    बेमतलबी को और एक,
    मकसद मिल गया !

    अखबार से निकली तो
    टीवी की बन गयी,
    हफ्ते भर तक खबर,
    यूँ ही सुर्खी में रही !

    सबसे लिए मज़े,
    अपने अपने ढंग से,
    असल मुद्दा जाने कब,
    फरार हो गया,
    ढूँढने वाले ढूँढ़ते रह गए,
    ग़ालिब हिन्दू थे की नहीं,
    'मजाल' का दस लाख सालाना,
    करार हो गया !



  14. #14
    K.I.L.L.E.R Colonel bariisto's Avatar
    Join Date
    Jun 2009
    Posts
    12,603
    Rep Power
    70

    Default

    thanx for the share......repzzzzz ++++++++++++++
    Look At Everything As Though You Were Seeing It Either For The First OR Last Time

  15. #15
    New Born
    Join Date
    Nov 2010
    Posts
    84
    Rep Power
    53

    Default

    here is one 'bina matra ki kavita'

    यह मन चनचल !

    भगत इधर उधर,

    सब तरफ,

    हर वखत !



    रत जग जग,

    करत सब करतब,

    उपदरव ,
    बस न पढ़त !



    हम कहत कहत थक,

    मगर यह,
    समझत कब ?


    समभल !

    अब पल सनकत !


    बच सक बच !


    हमर ब्रह्म अस्त्र !

    कल प्रशन पत्र !



    अचरज ?

    अब हतभरत ?!


    नटखट !
    अब मज चख !

Similar Threads

  1. Replies: 993
    Last Post: 19-08-2010, 06:31 PM
  2. Replies: 489
    Last Post: 15-05-2010, 01:58 PM
  3. Replies: 487
    Last Post: 08-05-2010, 04:59 PM
  4. Replies: 487
    Last Post: 04-05-2010, 02:44 PM
  5. Replies: 431
    Last Post: 10-03-2010, 07:56 AM

Tags for this Thread

Bookmarks

Posting Permissions

  • You may not post new threads
  • You may not post replies
  • You may not post attachments
  • You may not edit your posts
  •