Page 3 of 49 FirstFirst 1234513 ... LastLast
Results 31 to 45 of 729

Thread: एवैं कुछ भी :जेब काटने पर असहनशीलता का 'माल्&#

  1. #31
    Rainbow chaser Major General
    Join Date
    Dec 2011
    Location
    Looking for one
    Posts
    37,840
    Rep Power
    100

    Default

    खेड़ापुर गांव के एक कारोबारी हैं - संगमरमर के टॉयलेट का कारोबार है उनका। खेड़ापुर में भी टॉयलेट्स की समस्या है। कल को यूं हो सकता है कि कारोबारी जी पूरे गांव में टॉयलेट बनवा दें और पूरे गांव का नाम ही हो जाए - टॉयलेटपुर, इसके आगे उनका ब्रांड भी लगाया जा सकता है। खेड़ापुर यूं बहुत सुंदर नाम नहीं है, पर टॉयलेटपुर...। इस गांव के लड़कों को कोई अपनी बेटियां ना देगा, हाय क्या बताएंगे रिश्तेदारों को कि टॉयलेटपुर ब्याही है बेटी। कालोनियों के नाम तमाम ब्रांडों के बर्गरपुरम, पिज्जानगर टाइप्स हो जाएंगे।

    फिर महाराष्ट्र में अलग तरह की दिक्कतें हैं। वहां कई सरनेम्स गांवों के नाम के आधार पर होते हैं। नाशिक्कर सरनेम यानी नाशिक के रहने वाले। हाय हाय कैसे सरनेम्स होंगे, टायलेटपुरकर। पंजाब में भी गांव के नाम को नाम में एड करने का चलन है। रवींद्रपाल सिंह आलू की टिक्की डॉट कॉम, ये पूरा नाम होगा


    .......
    let it rain over me....

  2. #32
    ___ Sa'aB™ ___ Field Marshal DesiCasanova's Avatar
    Join Date
    Aug 2009
    Posts
    367,785
    Rep Power
    100

    Default

    Quote Originally Posted by arumita View Post
    खेड़ापुर में भी टॉयलेट्स की समस्या है। कल को यूं हो सकता है कि कारोबारी जी पूरे गांव में टॉयलेट बनवा दें और पूरे गांव का नाम ही हो जाए - टॉयलेटपुर, इसके आगे उनका ब्रांड भी लगाया जा सकता है। खेड़ापुर यूं बहुत सुंदर नाम नहीं है, पर टॉयलेटपुर...। इस गांव के लड़कों को कोई अपनी बेटियां ना देगा, हाय क्या बताएंगे रिश्तेदारों को कि टॉयलेटपुर ब्याही है बेटी। कालोनियों के नाम तमाम ब्रांडों के बर्गरपुरम, पिज्जानगर टाइप्स हो जाएंगे।

    Quote Originally Posted by Amarmahra View Post
    Quote Originally Posted by 007RIKY View Post
    खेड़ापुर गांव के एक कारोबारी हैं - संगमरमर के टॉयलेट का कारोबार है उनका। खेड़ापुर में भी टॉयलेट्स की समस्या है। कल को यूं हो सकता है कि कारोबारी जी पूरे गांव में टॉयलेट बनवा दें और पूरे गांव का नाम ही हो जाए - टॉयलेटपुर, इसके आगे उनका ब्रांड भी लगाया जा सकता है। खेड़ापुर यूं बहुत सुंदर नाम नहीं है, पर टॉयलेटपुर...। इस गांव के लड़कों को कोई अपनी बेटियां ना देगा, हाय क्या बताएंगे रिश्तेदारों को कि टॉयलेटपुर ब्याही है बेटी। कालोनियों के नाम तमाम ब्रांडों के बर्गरपुरम, पिज्जानगर टाइप्स हो जाएंगे।

    फिर महाराष्ट्र में अलग तरह की दिक्कतें हैं। वहां कई सरनेम्स गांवों के नाम के आधार पर होते हैं। नाशिक्कर सरनेम यानी नाशिक के रहने वाले। हाय हाय कैसे सरनेम्स होंगे, टायलेटपुरकर। पंजाब में भी गांव के नाम को नाम में एड करने का चलन है। रवींद्रपाल सिंह आलू की टिक्की डॉट कॉम, ये पूरा नाम होगा


    .......
    Thanks for Liking!~
    ╰დ╮LovEPOWER ╭დ╯

  3. #33
    ___ Sa'aB™ ___ Field Marshal DesiCasanova's Avatar
    Join Date
    Aug 2009
    Posts
    367,785
    Rep Power
    100

    Default ...तो यह है पार्किंग का दर्शन

    ...तो यह है पार्किंग का दर्शन

    मंगलवार में पार्किंग पर महाबहस छपी है। पार्किंग का मसला सिर्फ मसला नहीं, महामसला है। यह बात मुझे एक छात्र का उत्तर देखकर पता चली।

    प्रश्न था : दिल्ली में पार्किंग के तमाम आयामों के बारे में विस्तार से वर्णन करें।

    उत्तर इस प्रकार है : दिल्ली में पार्किंग के निम्नलिखित आयाम हैं -

    पार्किंग का दर्शन




    दुनिया क्या है पार्किंग है। हम सब आते हैं इस पार्किंग में, कुछेक सालों के लिए पार्क हो जाते हैं। अपने-अपने हिस्से का प्रदूषण बिखेरकर विदा लेते हैं। पार्किंग और दुनिया में कोई परमानेंट नहीं टिक पाता, जो आएगा, वो जाएगा।

    दर्शन बताता है कि जो दिखता है, वह होता नहीं है। जी शकरपुर, लक्ष्मीनगर में देख लीजिए, जिसे अज्ञानी समझते हैं, वो पार्किंग बन जाती है, दुकानदार लोगों की, शोरूम वालों की। आनंद विहार के आसपास चल रहे तमाम नर्सिंग होमों ने लगभग आधी सड़कें घेर रखी हैं, उनके वीइकल पार्क होते हैं।
    जो दूर से सड़क दिखती है, पास जाकर पार्किंग निकलती है। डीडीए के पुराने फ्लैटों में पार्किंग का प्रावधान किया गया था, पर जो पार्किंग की जगह थी, वहां दुकानें चल रही हैं। कई जगह तो जहां दूर से पार्क दिखते हैं, पास जाकर पार्किंग दिखती है। यह पार्किंग माया का दर्शन है, जो दिखता है वो है नहीं।

    पार्किंग का समाजशास्त्र

    पार्किंग का सामाजिक सिद्धांत यह है कि कब्जा सब तरफ कब्जा, अगर खाली पड़ी जगह पर तूने कब्जा ना किया, तो कोई और कब्जा कर लेगा। कोई फास्ट ट्रैवल टेकनीक आ जाए तो दिल्ली की कॉलोनियों की कारों को पार्क करने के लिए चीन के बार्डर के पास ले जाया जाए। पार्किंगशास्त्री ऐसी टेकनीक भिड़ाएंगे कि सारी गाड़ियों को चीन की सीमा के अंदर जाकर पार्क कर आएंगे। पता लगा कि इंडियन कारें शंघाई तक पार्क हो रही हैं। अपने ठिकाने को छोड़कर पूरे जहां में पार्किंग करना, कई दिल्ली वालों के लिए सिर्फ शौक नहीं है, जीवन मरण का प्रश्न है। ऐसे पार्किंग रणयोद्धाओं की जरूरत चीन बार्डर पर है।



    पार्किंग का समाजशास्त्र बताता है कि मरना छोटे का ही है। एक कॉलोनी में एक ट्रक कंपनी वाले अपने चार ट्रक कॉलोनी में पार्क करते थे, कुछ कार वाले इस पर झाऊं-झाऊं करते थे। एक दिन ट्रक वाले ने कार वालों को समझाया देखो चुपचाप पार्क किये जाओ, जहां जगह मिले। तुम्हारे वीइकल मेरे वीइकल से टच हो गए तो मेरा कुछ न होगा। कभी मेरे वीइकल ने तुम्हारे वीइकल को टच कर दिया न तो...। तो इस तरह से हम समझ जाते हैं कि मरना छोटे वाले को ही है, पार्किंग हो या समाज, यह पार्किंग का समाजशास्त्र है।

    अंत में : तमंचा तिहाड़वी जी ने कुछ पहेलीनुमा शेर भेजे हैं, आप देखकर बताएं कि एक शेर में तिवारी जी से आशय किससे है -

    बंदिशें सारी की सारी शरीफों पे हैं
    चोरों पे कभी नाकाबंदी नहीं होती
    तिवारी जी हैं कि इश्क की फैक्ट्री बड़ी, और
    फैक्ट्री भी ऐसी, कभी तालाबंदी नहीं होती

    ╰დ╮LovEPOWER ╭დ╯

  4. #34
    SB Addict Amarmahra's Avatar
    Join Date
    Jan 2012
    Location
    Right here.
    Posts
    764
    Rep Power
    65

    Default

    Quote Originally Posted by DesiCasanova View Post
    ...तो यह है पार्किंग का दर्शन

    मंगलवार में पार्किंग पर महाबहस छपी है। पार्किंग का मसला सिर्फ मसला नहीं, महामसला है। यह बात मुझे एक छात्र का उत्तर देखकर पता चली।

    प्रश्न था : दिल्ली में पार्किंग के तमाम आयामों के बारे में विस्तार से वर्णन करें।

    उत्तर इस प्रकार है : दिल्ली में पार्किंग के निम्नलिखित आयाम हैं -

    पार्किंग का दर्शन




    दुनिया क्या है पार्किंग है। हम सब आते हैं इस पार्किंग में, कुछेक सालों के लिए पार्क हो जाते हैं। अपने-अपने हिस्से का प्रदूषण बिखेरकर विदा लेते हैं। पार्किंग और दुनिया में कोई परमानेंट नहीं टिक पाता, जो आएगा, वो जाएगा।

    दर्शन बताता है कि जो दिखता है, वह होता नहीं है। जी शकरपुर, लक्ष्मीनगर में देख लीजिए, जिसे अज्ञानी समझते हैं, वो पार्किंग बन जाती है, दुकानदार लोगों की, शोरूम वालों की। आनंद विहार के आसपास चल रहे तमाम नर्सिंग होमों ने लगभग आधी सड़कें घेर रखी हैं, उनके वीइकल पार्क होते हैं।
    जो दूर से सड़क दिखती है, पास जाकर पार्किंग निकलती है। डीडीए के पुराने फ्लैटों में पार्किंग का प्रावधान किया गया था, पर जो पार्किंग की जगह थी, वहां दुकानें चल रही हैं। कई जगह तो जहां दूर से पार्क दिखते हैं, पास जाकर पार्किंग दिखती है। यह पार्किंग माया का दर्शन है, जो दिखता है वो है नहीं।

    पार्किंग का समाजशास्त्र

    पार्किंग का सामाजिक सिद्धांत यह है कि कब्जा सब तरफ कब्जा, अगर खाली पड़ी जगह पर तूने कब्जा ना किया, तो कोई और कब्जा कर लेगा। कोई फास्ट ट्रैवल टेकनीक आ जाए तो दिल्ली की कॉलोनियों की कारों को पार्क करने के लिए चीन के बार्डर के पास ले जाया जाए। पार्किंगशास्त्री ऐसी टेकनीक भिड़ाएंगे कि सारी गाड़ियों को चीन की सीमा के अंदर जाकर पार्क कर आएंगे। पता लगा कि इंडियन कारें शंघाई तक पार्क हो रही हैं। अपने ठिकाने को छोड़कर पूरे जहां में पार्किंग करना, कई दिल्ली वालों के लिए सिर्फ शौक नहीं है, जीवन मरण का प्रश्न है। ऐसे पार्किंग रणयोद्धाओं की जरूरत चीन बार्डर पर है।



    पार्किंग का समाजशास्त्र बताता है कि मरना छोटे का ही है। एक कॉलोनी में एक ट्रक कंपनी वाले अपने चार ट्रक कॉलोनी में पार्क करते थे, कुछ कार वाले इस पर झाऊं-झाऊं करते थे। एक दिन ट्रक वाले ने कार वालों को समझाया देखो चुपचाप पार्क किये जाओ, जहां जगह मिले। तुम्हारे वीइकल मेरे वीइकल से टच हो गए तो मेरा कुछ न होगा। कभी मेरे वीइकल ने तुम्हारे वीइकल को टच कर दिया न तो...। तो इस तरह से हम समझ जाते हैं कि मरना छोटे वाले को ही है, पार्किंग हो या समाज, यह पार्किंग का समाजशास्त्र है।

    अंत में : तमंचा तिहाड़वी जी ने कुछ पहेलीनुमा शेर भेजे हैं, आप देखकर बताएं कि एक शेर में तिवारी जी से आशय किससे है -

    बंदिशें सारी की सारी शरीफों पे हैं
    चोरों पे कभी नाकाबंदी नहीं होती
    तिवारी जी हैं कि इश्क की फैक्ट्री बड़ी, और
    फैक्ट्री भी ऐसी, कभी तालाबंदी नहीं होती


    भाई साहब...... मैं समझ गया कौन तिवारी जी ......!!!!
    नाम नहीं disclose करूंगा...... Supreme Court की अवमानना का केस पड़ जाएगा मुझ गरीब पर !

  5. #35
    ___ Sa'aB™ ___ Field Marshal DesiCasanova's Avatar
    Join Date
    Aug 2009
    Posts
    367,785
    Rep Power
    100

    Default

    Quote Originally Posted by Amarmahra View Post

    भाई साहब...... मैं समझ गया कौन तिवारी जी ......!!!!
    नाम नहीं disclose करूंगा...... Supreme Court की अवमानना का केस पड़ जाएगा मुझ गरीब पर !
    aap se kisi ne maanga hai blood sample


    tiwari ji supreme court ki dead line to khatm ho gayi...
    sample diya ki nahi pata nahi? eheheeh
    ╰დ╮LovEPOWER ╭დ╯

  6. #36
    Rainbow chaser Major General
    Join Date
    Dec 2011
    Location
    Looking for one
    Posts
    37,840
    Rep Power
    100

    Default

    Quote Originally Posted by Amarmahra View Post

    भाई साहब...... मैं समझ गया कौन तिवारी जी ......!!!!
    नाम नहीं disclose करूंगा...... Supreme Court की अवमानना का केस पड़ जाएगा मुझ गरीब पर !
    Tiwari ji ki factory aabhi open lease par chal rahi hai bhai
    Last edited by 007RIKY; 16-05-2012 at 03:35 PM.
    let it rain over me....

  7. #37
    teekhi jammu chilli Major General arumita's Avatar
    Join Date
    Jun 2009
    Location
    my home
    Posts
    31,575
    Rep Power
    100

    Default

    My love, the spark that ignited the day we met
    remains an eternal flame.











  8. #38
    SB Addict Amarmahra's Avatar
    Join Date
    Jan 2012
    Location
    Right here.
    Posts
    764
    Rep Power
    65

    Default

    Quote Originally Posted by DesiCasanova View Post
    aap se kisi ne maanga hai blood sample




    tiwari ji supreme court ki dead line to khatm ho gayi...
    sample diya ki nahi pata nahi? eheheeh
    Quote Originally Posted by 007RIKY View Post
    Tiwari ji ki factory aabhi open lease par chal rahi hai bhai
    भाई लोग ! क्यों जले पर नमक छिड़क रहे हैं आप लोग ?
    अरे ! हम से क्यों मांगेगा कोई हमारा Blood sample ???
    राम कसम ! Extra martial affair को सोचने भर से ही कंपकपी छिड़ जाती है इधर !
    मरना है क्या ????... क़ानून -वानून की बात छोडिये.... शेरनी ही फाड़ खाएगी !
    बोटी बोटी कर देगी....बाद में चाहे खुद साथ सती हो जाए.....!!!!

    भाई साहब ! हम तो अपनी तस्तीक-शुदा पत्नी के ही बच्चों के बाप हैं और मुकरते भी नहीं.



  9. #39
    ___ Sa'aB™ ___ Field Marshal DesiCasanova's Avatar
    Join Date
    Aug 2009
    Posts
    367,785
    Rep Power
    100

    Default

    Quote Originally Posted by Amarmahra View Post
    भाई लोग ! क्यों जले पर नमक छिड़क रहे हैं आप लोग ?
    अरे ! हम से क्यों मांगेगा कोई हमारा Blood sample ???
    राम कसम ! Extra martial affair को सोचने भर से ही कंपकपी छिड़ जाती है इधर !
    मरना है क्या ????... क़ानून -वानून की बात छोडिये.... शेरनी ही फाड़ खाएगी !
    बोटी बोटी कर देगी....बाद में चाहे खुद साथ सती हो जाए.....!!!!

    भाई साहब ! हम तो अपनी तस्तीक-शुदा पत्नी के ही बच्चों के बाप हैं और मुकरते भी नहीं.


    वाह! भाईसाहब वाह! क्या बात कही है!
    ╰დ╮LovEPOWER ╭დ╯

  10. #40
    ♥ek haseena thi♥ Field Marshal basanti<<<'s Avatar
    Join Date
    Aug 2009
    Location
    khayalon main~:o
    Posts
    123,016
    Rep Power
    100

    Default

    पार्किंगशास्त्री ऐसी टेकनीक भिड़ाएंगे कि सारी गाड़ियों को चीन की सीमा के अंदर जाकर पार्क कर आएंगे। पता लगा कि इंडियन कारें शंघाई तक पार्क हो रही हैं। अपने ठिकाने को छोड़कर पूरे जहां में पार्किंग करना, कई दिल्ली वालों के लिए सिर्फ शौक नहीं है, जीवन मरण का प्रश्न है। ऐसे पार्किंग रणयोद्धाओं की जरूरत चीन बार्डर पर है।
    एक दिन ट्रक वाले ने कार वालों को समझाया देखो चुपचाप पार्क किये जाओ, जहां जगह मिले। तुम्हारे वीइकल मेरे वीइकल से टच हो गए तो मेरा कुछ न होगा। कभी मेरे वीइकल ने तुम्हारे वीइकल को टच कर दिया न तो...


    touch!!!!!!!!
    Thank you bala

  11. #41
    Rainbow chaser Major General
    Join Date
    Dec 2011
    Location
    Looking for one
    Posts
    37,840
    Rep Power
    100

    Default

    Quote Originally Posted by Amarmahra View Post
    भाई लोग ! क्यों जले पर नमक छिड़क रहे हैं आप लोग ?
    अरे ! हम से क्यों मांगेगा कोई हमारा Blood sample ???
    राम कसम ! Extra martial affair को सोचने भर से ही कंपकपी छिड़ जाती है इधर !
    मरना है क्या ????... क़ानून -वानून की बात छोडिये.... शेरनी ही फाड़ खाएगी !
    बोटी बोटी कर देगी....बाद में चाहे खुद साथ सती हो जाए.....!!!!

    भाई साहब ! हम तो अपनी तस्तीक-शुदा पत्नी के ही बच्चों के बाप हैं और मुकरते भी नहीं.



    Wah wah bhai............

    bas aapke liye

    एक परेशान पति की व्यथा -
    “अपनी मर्जी से जीने भी नहीं देती …
    .
    .
    और
    .
    .
    करवाचौथ व्रत रख के मरने भी नहीं देती …”
    let it rain over me....

  12. #42
    SB Addict Amarmahra's Avatar
    Join Date
    Jan 2012
    Location
    Right here.
    Posts
    764
    Rep Power
    65

    Default

    Quote Originally Posted by 007RIKY View Post
    Wah wah bhai............

    bas aapke liye

    एक परेशान पति की व्यथा -
    “अपनी मर्जी से जीने भी नहीं देती …
    .
    .
    और
    .
    .
    करवाचौथ व्रत रख के मरने भी नहीं देती …”
    अमां नहीं यार... ! ऐसा नहीं है . ये सब मज़ाक की बातें हैं.
    अपनी मर्ज़ी से ही जी रहे हैं.....दरअसल मेरा मानना है कि One as husband should do only those things which he could allow to his wife to do also.....So ! that's a sort of self-restriction imposed on my self.

    बाकी हम दोनों ने अपने अपने Areas of Authority define कर रखे हैं....
    घर की सारी Duties & Authorities Madam की.. जैसे घर में किस दिन क्या पकेगा, किस दिन मैं कौन से कपडे पहनूगा, किस किस रिश्तेदार की घर में entry ban है, बच्चे कौन से स्कूल में पड़ेंगे, मेरा जेब-खर्च कितना होना चाहिए....मतलब......सब छोटे छोटे काम .
    I enjoy bigger Authorities related to outer world like What would be India's Foreign policy, whether America should attack Iran or not, What should be rate of Gold in next week & When Rahul Gandhi should go to UP.

    कभी-कभार पंगा भी पड़ जाता है .....पर तभी पड़ता है जब वो मेरी Authority exceed करती है.


  13. #43
    Hum Banarasi.......... Colonel Ankhi_sena_mun's Avatar
    Join Date
    Aug 2009
    Location
    Dheer sameere, Tatini Teere....
    Posts
    14,422
    Rep Power
    100

    Default

    Shaam-e-Avadh is very tiring

  14. #44
    ___ Sa'aB™ ___ Field Marshal DesiCasanova's Avatar
    Join Date
    Aug 2009
    Posts
    367,785
    Rep Power
    100

    Default

    Quote Originally Posted by basanti<<< View Post
    पार्किंगशास्त्री ऐसी टेकनीक भिड़ाएंगे कि सारी गाड़ियों को चीन की सीमा के अंदर जाकर पार्क कर आएंगे। पता लगा कि इंडियन कारें शंघाई तक पार्क हो रही हैं। अपने ठिकाने को छोड़कर पूरे जहां में पार्किंग करना, कई दिल्ली वालों के लिए सिर्फ शौक नहीं है, जीवन मरण का प्रश्न है। ऐसे पार्किंग रणयोद्धाओं की जरूरत चीन बार्डर पर है।
    एक दिन ट्रक वाले ने कार वालों को समझाया देखो चुपचाप पार्क किये जाओ, जहां जगह मिले। तुम्हारे वीइकल मेरे वीइकल से टच हो गए तो मेरा कुछ न होगा। कभी मेरे वीइकल ने तुम्हारे वीइकल को टच कर दिया न तो...


    touch!!!!!!!!
    Quote Originally Posted by 007RIKY View Post
    Wah wah bhai............

    bas aapke liye

    एक परेशान पति की व्यथा -
    “अपनी मर्जी से जीने भी नहीं देती …
    .
    .
    और
    .
    .
    करवाचौथ व्रत रख के मरने भी नहीं देती …”
    Quote Originally Posted by Amarmahra View Post
    अमां नहीं यार... ! ऐसा नहीं है . ये सब मज़ाक की बातें हैं.
    अपनी मर्ज़ी से ही जी रहे हैं.....दरअसल मेरा मानना है कि One as husband should do only those things which he could allow to his wife to do also.....So ! that's a sort of self-restriction imposed on my self.

    बाकी हम दोनों ने अपने अपने Areas of Authority define कर रखे हैं....
    घर की सारी Duties & Authorities Madam की.. जैसे घर में किस दिन क्या पकेगा, किस दिन मैं कौन से कपडे पहनूगा, किस किस रिश्तेदार की घर में entry ban है, बच्चे कौन से स्कूल में पड़ेंगे, मेरा जेब-खर्च कितना होना चाहिए....मतलब......सब छोटे छोटे काम .
    I enjoy bigger Authorities related to outer world like What would be India's Foreign policy, whether America should attack Iran or not, What should be rate of Gold in next week & When Rahul Gandhi should go to UP.

    कभी-कभार पंगा भी पड़ जाता है .....पर तभी पड़ता है जब वो मेरी Authority exceed करती है.

    Quote Originally Posted by Ankhi_sena_mun View Post
    Thanks for liking!~
    ╰დ╮LovEPOWER ╭დ╯

  15. #45
    SB Guru Major
    Join Date
    Oct 2006
    Posts
    5,393
    Rep Power
    100

    Default

    Quote Originally Posted by Amarmahra View Post
    अमां नहीं यार... ! ऐसा नहीं है . ये सब मज़ाक की बातें हैं.
    अपनी मर्ज़ी से ही जी रहे हैं.....दरअसल मेरा मानना है कि One as husband should do only those things which he could allow to his wife to do also.....So ! that's a sort of self-restriction imposed on my self.

    बाकी हम दोनों ने अपने अपने Areas of Authority define कर रखे हैं....
    घर की सारी Duties & Authorities Madam की.. जैसे घर में किस दिन क्या पकेगा, किस दिन मैं कौन से कपडे पहनूगा, किस किस रिश्तेदार की घर में entry ban है, बच्चे कौन से स्कूल में पड़ेंगे, मेरा जेब-खर्च कितना होना चाहिए....मतलब......सब छोटे छोटे काम .
    I enjoy bigger Authorities related to outer world like What would be India's Foreign policy, whether America should attack Iran or not, What should be rate of Gold in next week & When Rahul Gandhi should go to UP.

    कभी-कभार पंगा भी पड़ जाता है .....पर तभी पड़ता है जब वो मेरी Authority exceed करती है.

    ................

Similar Threads

  1. Replies: 51
    Last Post: 02-06-2015, 12:03 PM
  2. Replies: 8
    Last Post: 03-01-2015, 05:46 PM
  3. Replies: 75
    Last Post: 09-10-2012, 10:05 AM
  4. Replies: 8
    Last Post: 23-02-2011, 09:35 PM

Tags for this Thread

Bookmarks

Posting Permissions

  • You may not post new threads
  • You may not post replies
  • You may not post attachments
  • You may not edit your posts
  •